यदि मैं डॉक्टर होती


यदि मैं डॉक्टर होती 

प्रत्येक व्यक्ति की अपनी - अपनी रुचि होती है | सभी व्यक्ति समान नहीं होते | सभी व्यक्ति अपनी - अपनी रुचि के अनुसार जीवन में कुछ करना चाहते हैं | मैं भी जीवन में कुछ करके दिखाना चाहती हूँ | मैं भी सोचती हूँ काश ! मैं डॉक्टर होती | यदि मैं डॉक्टर बन गई तो मैं जो कुछ करूँगी, उसकी रूपरेखा नीचे दे रही हूँ |

यदि मैं डॉक्टर बन जाती तो मेरा लक्ष्य होता जन - सेवा | मैं किसी ऐसे गाँव और क्षेत्र में अपना क्लिनिक खोलती जहाँ चिकित्सा की बहुत जरूरत होती | उस क्लिनिक में मैं सभी प्रकार के चिकित्सा के उपकरणों का प्रबंध करती | इससे गाँव के लोगों को इलाज के लिए गाँव से बाहर न जाना पड़ता | मेरे क्लिनिक से ही उनकी चिकित्सा संबंधी सारी आवश्यकताएँ पूरी हो जाती | डॉक्टरी का व्यवसाय मैं केवल धन कमाने के लिए नहीं करती | पर मैं यह भी जानती हूँ कि बिना धन के काम नहीं चल सकता | इसलिए मैं गाँव के धनवान व्यक्तियों से तो चिकित्सा के पूरे पैसे लेती और साथ ही सरकार से भी मदद माँगती पर मैं गाँव के गरीबों का इलाज मुफ्त में करती | 

बहुत से रोग अज्ञानता के कारण होते हैं | रोगों का इलाज करना तो ठीक है, पर यह भी जरूरी है कि रोग क्यों होते हैं, इसकी जानकारी हो | इसलिए मैं रोगियों का इलाज तो करूँगी ही, साथ ही उन्हें समझाऊंगी भी | मैं उन्हें रोगों से बचने के तरीके बताऊँगी | ताकि रोगी उनका ध्यान रखेंगे तो वे बहुत -से रोगों से बच सकते हैं | अंग्रेज़ी में भी कहा है - Prevention is better than cure . इलाज से परहेज़ ज्यादा अच्छा है |

यदि मैं डॉक्टर बन जाती हूँ तो मैं अपना कार्य पूरी जिम्मेदारी के साथ करूँगी | चिकित्सा का काम व्यवसाय नहीं है | इसलिए केवल पैसा कमाना ही मेरा उद्देश्य नहीं होगा | मेरे जीवन का लक्ष्य ही है मानव- सेवा, समाज- सेवा, धन कमाना नहीं | मुझे विश्वास है कि मैं अवश्य डॉक्टर बनूँगी | मैं जो संकल्प किया है, उसे पूरा करके दिखाऊँगी | ईश्वर उनकी सहायता अवश्य करता है जो बहुत मेहनत करता है और अपना कार्य ईमानदारी से करता है | 

मेरी ईश्वर से प्रार्थना है - है प्रभु मुझे शक्ति दो, मुझे बल दो | मैंने डॉक्टर बनने का जो निश्चय किया है, उसे पूरा कर सकूँ | इतना ही नहीं मुझे शक्ति दो कि मैं डॉक्टर बनकर जन - सेवा करने का जो संकल्प किया है उसे भी जीवन भर निभा सकूँ |

 
time: 0.0181820393