विज्ञान - वरदान या अभिशाप निबंध


आधुनिक युग विज्ञान का युग है | चारों और अनुसंधानों एवं आविष्कारों की धूम मची है | विज्ञान ने संसार के स्वरूप की कायापलट कर दी है | आज कोई ऐसा क्षेत्र नहीं, जो विज्ञान की उपलब्धियों से अछूता हो | यातायात के क्षेत्र में विज्ञान ने दुरी को हमारे निकट लाकर खड़ा कर दिया है | एक स्थान से दूसरे स्थान तर पहुँचने में जहाँ पहले महीनों में भी नहीं पहुँचा जा सकता था, वहीं अब कुछ घंटों में पहुँचा जा सकता है | देश - विदेश के समाचार पलक झपकते ही हमें प्राप्त हो जाते हैं | आज तो मानव के चरण दूसरे ग्रहों पर भी पड़ गए हैं | 

मनोरंजन के क्षेत्र में आज जो साधन उपलब्ध हैं, वे अत्यंत उत्कृष्ट हैं | टेलीविज़न, चलचित्र, वीडिओ, सी . डी. प्लेयर आदि ने मनोरंजन के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन ला दिए हैं | बिजली के आविष्कार ने विश्व को चमत्कृत कर दिया है | बिजली के बिना आज जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती है | गरमी में ठण्ड तथा ठण्ड में गरमी विद्युत के द्वारा आसानी से प्राप्त की जा सकती है | बिजली से अनेक उपकरण चलते हैं, जिनके बिना जीवन अधूरा लगता है |

टेलीफ़ोन, मोबाइल फ़ोन, फैक्स, इंटरनेट, कंप्यूटर, वायरलैस जैसी वैज्ञानिक उपलब्धियों ने संदेशवाहन के क्षेत्र में अभूतपूर्व परिवर्तन कर दिए हैं |

चिकित्सा के क्षेत्र में तो विज्ञान ने क्रांति ही ला दी है | हैज़ा, चेचक, मलेरिया, क्षय रोग जैसी बीमारियाँ, जो पहले असाध्य समझी जाती थी, आज इनका इलाज संभव है | कैंसर जैसी बिमारियों का इलाज ढूंढ़ने के लिए वैज्ञानिक प्रयासरत हैं | एक्स - रे, कैट्स स्केन, अंग प्रत्यारोपण, टेस्ट ट्यूब बेबी जैसी उपलब्धियाँ आश्चर्यजनक हैं | कोरोना महामारी के समय में चिकित्सा का अभूतपूर्व योगदान रहा है | वैक्सीन बना कर हमे वैज्ञानिकों ने एक नया जीवन प्रदान किया है |

विज्ञान के आविष्कारों के बल पर व्यक्ति जल, थल और नभ का स्वामी बन बैठा है | मुद्रण क्षेत्र में कंप्यूटर के प्रयोग से क्रांतिकारी परिवर्तन हुए हैं | कंप्यूटर अनेक प्रकार की कठिनतम गणनाओं को क्षण भर में करके प्रस्तुत कर देता है | अंतरिक्ष विज्ञान, सैन्य विज्ञान, रक्षा - क्षेत्र, जैसी अनेक क्षेत्रों में कंप्यूटर के प्रयोग से दुनिया ही बदल गई है | कृषि के क्षेत्र में नई - नई मशीनों से कृषि कार्य अत्यंत सरल और लाभप्रद हो गया है |

इतने सारे लाभ होने के बाद भी विज्ञान से कुछ हानियाँ भी हैं | बंदूक, रिवॉल्वर, मशीनगन, टैंक, डायनामाइट, पनडुब्बी, विमानबेधक तोपें, बमवर्षक वायुयान, विषैली गैसें, परमाणु बम आदि संहारक अस्त्र भी विज्ञान के ही चमत्कार हैं जिनसे पल भर में ही पुरे विश्व का विनाश किया जा सकता है |

यह सदुपयोग या दुरुपयोग पर आश्रित है | मनुष्य को विज्ञान से मानव हितकारी काम ही लेने चाहिए | मानव को नष्ट करने वाली चीज़ों के प्रयोग से दूर ही रहना चाहिए तथा इनका प्रयोग मानवता की रक्षा के लिए करना चाहिए तभी हम विज्ञान से सही मायनों में लाभ उठा सकते हैं |
time: 0.0244560242