तत्सम और तद्भव शब्द


तत्सम और तद्भव शब्द की परिभाषा :-  कुछ शब्द ऐसे होते हैं, जो होते तो संस्कृत के हैं, परंतु हिंदी में भी बिना परिवर्तित हुए प्रयुक्त होते हैं | उन शब्दों को तत्सम शब्द कहा जाता है और यदि उन शब्दों में थोड़ा -सा परिवर्तन करके हिंदी में प्रयुक्त करें, तो उन शब्दों को तद्भव शब्द कहा जाता है | कुछ ऐसे ही तद्भव शब्द और उनके मूल रूप अर्थात तत्सम शब्द हैं -
 
तद्भव तत्सम
अचरज आश्चर्य 
अमी   अमृत 
आठ अष्ट 
आम आम्र
आग अग्नि 
ओठ ओष्ठ 
अंधा अंध 
आँसू अश्रु 
ईख इक्षु 
ऊँगली अँगुलि
उल्लू   उलूक
ऊँट उष्ट्र
कछुवा   कच्छप
काज कार्य
कान कर्ण 
काम   कर्म
किवाड़ कपाट
कुम्हार कुंभकार
कुआँ   कूप
किशन कृष्ण 
कोयल कोकिला 
गधा गर्दभ 
 गेहूँ गोधूम
घी घृत
घर गृह 
घड़ा   घट
घोड़ा घोटक
जेठ ज्येष्ठ 
जीभ जिह्वा
थन स्तन
दही दधि 
  दूध      दुग्ध
धुआँ धूम्र
नाक   नासिका
नाच नृत्य
नींद निद्रा
नेह स्नेह
नैन नयन 
पाहन पाषाण
पत्थर प्रस्तर
पंख पक्ष
पोता पौत्र 
पिता पितृ
पूत पुत्र
पाँव पाद
बहू वधू
बूँद बिंदु
बंदर   वानर
भगत भक्त
भाप   वाष्प
भँवरा   भ्रमर
भीख भिक्षा
मुँह मुख
माथा मस्तक
मीठा मिष्ठ
मिट्टी   मृत्तिका
मीत मित्र
मोर मयूर
मुट्ठी मुष्टि 
मक्खी मक्षिका
मोती मौक्तिक 
लाज   लज्जा
लाख   लक्ष
शक्कर   शर्करा
शाम सायं
सच सत्य
साग शाक
सात सप्त 
सीस शीर्ष
सिंगार शृंगार
सूत सूत्र
सुहाग सौभाग्य
सूरज सूर्य
सेठ श्रेष्ठी
सीख शिक्षा 
सोना स्वर्ण 
सौ   शत
साँस श्वास
साँवला श्यामल
हाथ हस्त
हाथी हस्ति
हड्डी अस्थि 

Hindi Grammar

time: 0.0294461250