उपसर्ग


उपसर्ग

क्रिया शब्दों के पूर्व जोड़े जाने वाले शब्द उपसर्ग कहलाते हैं |
 
 उपसर्ग  क्रिया शब्द मूल धातु सहित  नया शब्द
आ +  गच्छति  = आता है।  आगच्छति
अनु अनु + गच्छति  = पीछे जाता है।  अनुगच्छति
उप् उप् + गच्छति  =  पास गाता है। उपगच्छति
अधि  अधि + गच्छति  =  प्राप्त करता है | अधिगच्छति
अव् अव् + गच्छति   =  समझता है |   अवगच्छति
निर् निर्   +  गच्छति  =  निकलता है | निर्गच्छति
परा परा  + भवति  = अपमान करता है | पराभवति
प्र   प्र + भवति  = पैदा होता है ।  प्रभवति
अप् अप् + नयति = दूर करता है | अपनयति
प्रति प्रति + वदति  =  उत्तर देना प्रतिवदति

इसी प्रकार अनुभवति, अनुवदति, अपनयति, अपवदति, आचरति, परिचरति, निर्गच्छति, अनुभवामि,  अनुचरामि, अनुवदामि, अनुगच्छामि, आदि उपसर्ग युक्त क्रियाएँ
बनाकर  उनके द्वारा वाक्य रचना  की जाती है ।
रामः वनात् गृहम् आगच्छति   = राम वन से घर आता है ।
         
                मा कुरु  दर्पं, मा कुरु  गर्वं
                मा भव  मानी, मानय सर्वं
               मा भज दैन्यं, मा भज शोकम्
               मुदित  मना भव, मोदय  लोकम् ।
 
             
 
time: 0.0297570229