स: तौ ते


स:    तौ    ते

संस्कृत में तीन पुरुष होते हैं, प्रथम पुरुष, मध्यम पुरुष और और अन्य पुरुष।

स: का प्रयोग
 
स: अन्य पुरुष एक वचन है। स: का अर्थ है वह, मैं और तुम को छोड़कर बाकी सभी पशु पक्षी पुष्प फल सब कुछ अन्य पुरुष होते हैं।

वाक्यों में सः का प्रयोग 

हिंदी वाक्य :-  वह दौड़ता है।   
संस्कृत वाक्य  :-  स: धावति।
हिंदी वाक्य :- वह पीता है।   
संस्कृत वाक्य  :-  स: पिबति ।
हिंदी वाक्य :- वह खेलता है। 
संस्कृत वाक्य  :-  स: किडति ।
हिंदी वाक्य :-  वह खाता है।  
संस्कृत वाक्य  :- स: खादति।

तौ का प्रयोग 
अन्य पुरुष द्विवचन में प्रयोग होता है। तौ का अर्थ है-  वे दोनों  

वाक्यों में तौ का प्रयोग 

हिंदी वाक्य :- वे दोनों खेलते हैं।
संस्कृत वाक्य  :- तौ खेलथ: ( किड़थ; ) 
हिंदी वाक्य :- राम और श्याम दोनों दौड़ते हैं।
संस्कृत वाक्य  :- राम: च श्याम: द्वौ धावथ: ।

इसी प्रकार ते का प्रयोग किया जाता है ।

अन्य पुरुष बहुवचन में इसका प्रयोग होता है। ते का अर्थ है-  वे सब।

वाक्यों में ते का प्रयोग 

हिंदी वाक्य :- वे सब दौड़ते हैं
संस्कृत वाक्य  :- ते धिवन्ति ।
हिंदी वाक्य :- वे सब खाना खाते हैं।
संस्कृत वाक्य  :- ते भोजनं भक्षयन्ति ।
हिंदी वाक्य :- वे सब पड़ते हैं।
संस्कृत वाक्य  :- ते पठन्ति।

इस प्रकार स:।  तौ।   ते। का प्रयोग किया जाता है।  स: कर्ता है यदि कर्ता में अन्य पुरुष एक वचन है तो क्रिया में भी अन्य पुरुष एक वचन ही होगा । खाना, पीना, खेलना ये सब क्रिया  है।

Sanskrit Grammar

time: 0.0198800564